Search This Blog

Thursday, May 25, 2017

रोज़ाना : प्रियंका चोपड़ा की 51वीं फिल्‍म



रोज़ाना
प्रियंका चोपड़ा की 51वीं फिल्‍म
-अजय ब्रह्मात्‍मज
भारत छोड़ कर पूरी दुनिया में आज रिलीज हो रही बेवाचप्रियंका चोपड़ा की पहली हॉलीवुड फिल्‍म है। अगर उनकी हिंदी फिल्‍मों को शामिल कर लें तो यह उनकी 51वीं फिल्‍म होगी। 50 फिल्‍मों के बाद हॉलीवुड में इस दस्‍तक से प्रियंकाचोपड़ा समेत उनके प्रशंसक खुश हैं। किसी भारतीयअभिनेत्री की बड़ी उपलब्धि की तरह इसे पेश किया जारहा है। लोकप्रिय टीवी शो पर आधारित इस फिल्‍म के प्रति दर्श्‍कों केनजरिए में भिन्‍नता हो सकती है,फिर भी यह स्‍वीकार करने में दिक्‍कत नहीं होनी चाहिए कि प्रियंका चोपड़ा ने कुछ उल्‍लेखनीय हासिल किया है। देसी गर्लके नाम से विख्‍यात प्रियंका चोपड़ा की जमशेदपुर से हॉलीवुडतक की यह यात्रा देसी व छोटे शहर की लड़कियों के लिए मिसाल व प्रेरणा है।
प्रियंका चोपड़ा ने मिस इंडिया के बाद फिल्‍मों में कदम रखा। अपनी गलतियों से सीखती हुई वह आगे बढ़ती रही। माता-पिता के संरक्षण और दिशानिर्देश में प्रियंका चोपड़ा ने छोटी-छोटी कामयाबियों से हिंदी फिल्‍म इंडस्‍ट्री में अपनी जगह बनायी। एक्टिंग करिअर में वह अपने साथ आई लारा दत्‍ता से काफी आगे बढ़ गईं। उन्‍होंने हिंदी फिल्‍मों के सभी मुख्‍य कलाकारों के साथ काम किया। सधी और गंभीर अभिनेत्री की भी छवि बनाई और फैशनके लिए राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार हासिल किया। प्रियंका चोपड़ा ने उसके बाद फिल्‍मों में अपनी भूमिकाओं की वैरायटी पर ध्‍यान दिया। उन्‍होंने विशाल भारद्वाज,आशुतोष गोवारिकर और संजय लीला भंसाली के साथ सराहनीय प्रयोग किए। हालांकि प्रियंका चोपड़ा ने कहीं कहा नहीं,लेकिन हिंदी फिल्‍मों में वह एक सैचुरेशन पाइंट पर पहुंच चुकी थीं। नई भूमिकाओं में भी नवीनता नहीं रह गई थी।
ऐसे ठहराव के दौर में उन्‍हें अपनी गायकी का खयाल आया। उन्‍होंने उसे साधा और अथ्‍यास किया। वह अंग्रेजी में अपने सिंगल्‍स लेकर आईं। विदेशों में पहचान हासिल की। उनका समय अमेरिका में बीतने लगा। तब ऐसा लगा था कि वह तात्‍कालिक चर्च से भटकाव की ओर बढ़ रही हैं। अब ऐसा ल्रता है कि वह उनकी दूरस्‍थ योजनाओं का पड़ाव था। उन्‍होंने अमेहिरकी टीवी शो क्‍वांटिको की भूमिका के लिए हां कहा और अमेरिकी दर्शकों की चहेती बन गईं। क्‍वांटिको के तीसरे सीजन की तैयारी चल रही है। इस टीवी शो के दौरान ही उन्‍हें बेवाच मिली। बेवाच में वह निगेटिव भूमिका में हैं। पहले इस निगेटिव किरदार का नाम विक्‍टर था। उसके लिए किसी पुरुष कलाकार से बात चल रही थी,लेकिन प्रियंका चोपड़ा से मिलने के बाद डायरेक्‍टर सेठ गॉर्डन ने किरदार का नाम विक्‍टोरिया कर दिया। प्रियंका चोपड़ा विक्‍टोरिया के रूप में दिखेंगी।
किसी भारतीय अभिनेत्री के लिए यह छोटी पउलब्धि नहीं है। यहां से नए द्वार खुलेंगे और दूसरी अभिनेत्रियों को भी प्रवेश मिलेगा। भारतीय प्रतिभाएं इंटरनेशनल सिनेमा में चमकने को तैयार हैं। प्रियंका चोपड़ा पहली चकम हैं। पिछले हफ्ते वह बेवाच के प्रमोशन में व्‍यस्‍त रहीं। मौका मिले तो कभी यूट्यूब पर उनके इंटरव्‍यू सुनें और खुश्‍ हों कि बरेली की लड़की अमेरिका के शहरों में आत्‍मविश्‍वास के साथ विचर रही है।

No comments: